CAA: डॉ. कफील के खिलाफ रासुका के तहत मामला दर्ज, अब नहीं होगी जेल से रिहाई

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में विवादित बयान देने के मामले में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए डॉ. कफील के खिलाफ अलीगढ़ सिविल लाइंस में रासुका के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

ये है पूरा मामला...
एएमयू में धरने को संबोधित करने के दौरान डॉ. कफील ने भड़काऊ भाषण दिया था। इसके बाद थाना सिविल लाइंस में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। उसी मामले में पुलिस ने उसे मुंबई से गिरफ्तारी करने के बाद मथुरा जेल बंद कर दिया था।

विश्वविद्यालय में विवादित बयान मामले में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए अलीगढ़ के सिविल लाइंस में रासुका के तहत मुकदमा लिखा गया इसलिए अब डॉ कफील की रिहाई नहीं होगी।

गौरतलब है कि पिछले माह नागरिकता कानून को लेकर योगेंद्र यादव संग एएमयू में विवादित बयान देने पर कफील पर यहां सिविल लाइंस में मुकदमा लिखा गया था। उस मुकदमे में 10 फरवरी को जमानत के बाद  रिहाई की तैयारी चल रही थी।  जिला प्रशासन ने कफील पर सिविल लाइंस में रासुका के तहत लिखा मुकदमा लिखकर प्रपत्र मथुरा जेल में कफील को रिसीव करा दिया है।


Popular posts
हापुड़: शुक्रवार को राष्ट्रीय मानव अधिकार एवं भ्रष्टाचार निवारण के मंडल मीडिया प्रभारी बने दीपक कश्यप
Image
उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ में आज स्वच्छता अभियान के तहत भाजपा जिला अल्पसंख्यक मोर्चा द्वारा मजीद पुरा मोहल्ला सहित कई स्थानों पर स्वच्छता अभियान चलाया गया।
Image
जिला मुजफ्फरनगर के सभी फोटोग्राफरो को सूचना
Image
हापुड के फोटोग्राफरो ने फोटोग्राफी कला बोर्ड की उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की नगेन्द्र कश्यप राष्ट्रीय अध्यक्ष
Image
कश्यप समाज का विवाह योग्य परिचय सम्मेलन
Image