फोटोग्राफी का दर्जा तय ना होने के कारण उ.प्र सरकार की योजनाओं से वंचित हैं फोटोग्राफर

लखनऊ(न्यूज एजेंसी). अखिल भारतीय फोटोग्राफर फाउंडेशन लखनऊ के जिलाध्यक्ष निखिल कुमार गुप्ता ने बताया. उत्तर प्रदेश के  मे फोटोग्राफी को कोई दर्जा नहीं है जिसके कारण फोटोग्राफर उत्तर प्रदेश  सरकार की योजनाओं से वंचित है चाहे न्यूज पेपर मे फोटोग्राफर हो या राजनीतिक  कार्यक्रम हो या शादी अन्य समारोह सभी मे ही फोटोग्राफर आवश्यकता होती है यहां तक भी देख गया है सरकारी कार्यक्रम की  फोटोग्राफी से प्रमाणित होती है हर राज्य की तहसील व अन्य विभागों मे फोटोग्राफर संविदा पर रखा है फोटोग्राफी व कैमरे की कोई भी जानकारी नहीं है जाति प्रमाणपत्र हो या अन्य प्रमाण पत्र हो सभी मे फोटोग्राफ अनिवार्य है लेकिन उस फोटो क्वालिटी इतनी खराब है उसे कोई भी पहचान नहीं सकता जिसके कारण भ्रष्टाचार भी पनप रहा है  लॉक डाउन मे किसी फोटोग्राफर को कोई लाभ नहीं मिला है उ.प्र सरकार से मांग है फोटोग्राफी कला का दर्जा लेकर फोटोग्राफरो योजनाओं का लाभ दिया जाये


Popular posts
किसान यूनियन तहसील मोदीनगर मंगल दिवस में गाजियाबाद के जिला अध्यक्ष चौधरी विजेंद्र सिंह के नेतृत्व में काफी संख्या में किसानों ने ज्ञापन दिया तहसील दिवस में
Image
फोटोग्राफी कला के सम्मान व अधिकार के लिये फोटोग्राफरो को आगे आना होगा...उदय चौधरी
Image
अ.भा.फो.फा रजि. जिला छायाकार संघ नरसिंहपुर का प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम हुआ संपन्न.
Image
<no title>गांव बखरवा अग्निकांड मे मृतक परिवार से एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाये..विनोद सैन
Image
आशीष शर्मा बने शहर काग्रेंस कमेटी मोदीनगर के नगरध्यक्ष
Image